कांगड़ा। पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए हिमाचल की ज्वाली विधानसभा क गांव धेवा के तिलक राज को पूरे प्रदेश याद कर रहा है। पत्नी सावित्री ने आज ही के दिन एक साल पहले अपना पति खोया था। पत्नी का कहना है कि उन्हें अपने पति की शहादत पर गर्व है।

https://platform.twitter.com/widgets.js

पत्नी ने कहा कि बुजुर्ग सास-ससुर और बच्चों को सहारा देने के लिए करूणामूलक आधार पर छह महीने के अंदर सरकारी नौकरी दे दी थी। सावित्री का कहना है कि सरकारी नौकरी मिलने के कारण आर्थिक स्थिती खराब नहीं हुई। विधायक अर्जुन ठाकुर की मांग पर सीएम ने जितनी घोषणाएं की थीं वो लगभग सभी पूरी हो गई हैं। उन्होंने कहा कि तिलक राज सिर्फ सैनिक ही नहीं थे, वो अच्छे कलाकार, अच्छे खिलाड़ी भी थे। वे बहुत अच्छा गाते थे।

शहीद के बुजुर्ग माता-पिता का कहना है कि धेवा गांव के स्कूल को स्तरोन्नत कर इसका नाम शहीद तिलक राज राजकीय उच्च विद्यालय कर दिया गया है। तिलक की पत्नी को सरकारी नौकरी देकर मदद भी की है।