शिमला। क्या आपने हिमाचल सरकार द्वारा शुरू की गई योजना के तहत हेल्थ कार्ड बनवाया है। अगर नहीं तो फौरन बनवा लें क्योंकि इसके तहत आपको 5 लाख रुपये तक का निशुल्क इलाज उपलब्ध है। हिमकेयर योजना के तहत हेल्थ कार्ड बनवाने के लिए मात्र 1000 रुपये शुल्क देना पड़ेगा। इस योजना के तहत 5 लाख रुपये का इलाज फ्री में होगा।

जी हां, यहां बात हो रही है हिमाचल की जयराम सरकार की महत्वकांक्षी योजना हिमकेयर की, जिससे प्रदेश के लाखों लोग लाभान्वित हो रहे हैं। हिमकेयर योजना प्रदेशवासियों के लिए फायदे का सौदा बन गई। 5 लाख 50 हजार से ज्यादा लोग अभी तक इस योजना से लाभान्वित हो चुके हैं।

फैमिली फ्लोटर आधार पर एक साल में पूरे परिवार के लिए 5 लाख रुपये तक का निशुल्क इलाज है। 2 साल में जयराम सरकार ने 60.66 करोड़ रुपये इस योजना के तहत प्रदेशवासियों के इलाज पर खर्च किए हैं। योजना के तहत 65 हजार से ज्यादा मरीजों को मुफ्त में इलाज हो चुका है।

क्यों शुरू की गई थी ये योजना

इस योजना को शुरू करने के पीछे मुख्यमंत्री जयराम की सोच थी कि प्रदेश का कोई भी नागरिक इलाज के अभाव में न रहे। किसी भी व्यक्ति की मौत इलाज के अभाव में न हो। इस योजना से संबंधित कार्यप्रणाली डिजिटाइज है। मरीजों को फार्म भरने, फीस देने के लिए लाइन में लगने की जरूरत नहीं है। हिमाचल सरकार ने इसके लिए ई-कार्ड, ई-फार्म, ऑनलाइन ट्रीटमेंट एंट्री और केशलेस ट्रांजेक्शन मैनेजमेंट सिस्टम की व्यवस्था बनाई है। लोगों को एक कार्ड मिलेगा और अस्पताल में उसे दिखाने से इलाज हो जाएगा।

प्रदेशवासियों को अच्छी सुविधा मिले इसलिए हिमकेयर योजना के तहत 200 स्वास्थ्य संस्थानों को पंजीकृत किया गया है। जिनमें 56 प्राइवेट हॉस्पिटल, पीजीआई चंडीगढ़ को भी शामिल किया गया है। इस योजना के तहत कैंसर, हार्ट अटैक इसके अलावा और भी कई बीमारियों का इलाज है।

1 जनवरी 2020 से नए ई-कार्ड बनाने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। अभी तक 25 हजार नए पंजीकरण हो चुके हैं। अगर आपको भी पंजीकरण करवाना है तो वेबसाइट www.hpsbys.in पर विजिट करें या फिर लोकमित्र केंद्र में जाकर भी आप पंजीकरण करवा सकते हैं।