पटना। बिहार में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए जेडीयू-एनडीए अलायंस के सीएम चेहरे नीतीश कुमार हैं और आरजेडी के संभावित चेहरे तेजस्वी यादव हैं, लेकिन इन सब के बीच अब एक और सीएम की कैंडिडेट हैं, नाम है पुष्पम प्रिया चौधरी।

https://platform.twitter.com/widgets.js

नीतीश के खिलाफ हुंकार भरने वाली ये लड़की कोई और नहीं बल्कि जेडीयू के विधान पार्षद ( एमएलसी) विनोद चौधरी की बेटी हैं।

बिहार की राजनीति में मचा दिया भूचाल

लंदन में उच्च शिक्षा हासिल करने वाली पुष्पम ने बिहार के समाचार पत्रों में विज्ञापन देकर बिहार की राजनीति में भूचाल मचा दिया। पुष्पम ने विज्ञापन के जरिए खुद को सीएम कैंडिडेट बताया और इस तरह बिहार की राजनीति में एंट्री लेने की घोषणा की। पुष्पम ने ‘प्लूरल्स’ के नाम से अपनी राजनीतिक पार्टी लॉंच करते हुए विज्ञापन के जरिए अपनी बात रखी।

https://platform.twitter.com/widgets.js

पुष्पम ने ट्विटर हैंडल पर घोषणा करते हुए लिखा है कि बिहार में बदलाव की जरूरत है। प्लूरल्स के पास 2025 से 2030 तक के लिए रोडमैप है। पुष्पम ने लोगों से जुड़ने की अपील की है।

कौन हैं पुष्पम ?

पुष्पम प्रिया चौधरी मूल रूप से बिहार के दरभंगा की रहने वाली हैं और जेडीयू नेता व एमएलसी विनोद चौधरी की बेटी हैं। पुष्पम के चाता जेडीयू के जिलाध्यक्ष हैं। इसके अलावा दादा उमाकांत  चौधरी को नीतीश के काफी करीबी माना जाता था।

https://platform.twitter.com/widgets.js

पुष्पम ने लंदन स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स एंड पॉलिटिकल साइंसेज से पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में एमए की डिग्री हासिल की है। इंग्लैंड की यूनिवर्सिटी ऑफ ससेक्स से डेवलेपमेंट स्टडीज में एमए की है। विज्ञापन के जरिए उन्होंने बिहार के लोगों को संदेश दिया है कि विदेश में पढ़ाई करने के बाद वो अब वापस बिहार आकर बदलना चाहती हैं।

उन्होंने विज्ञापन के जरिए कहा है कि वे अगर मुख्यमंत्री बनती हैं तो अगले पांच साल में बिहार को देश का सबसे विकसित राज्य बना देंगी। 2030 तक बिहार यूरोप के देशों की तरह हो जाएगा। पुष्पम ने अपनी राजनीतिक पार्टी प्लूरल्स बनाई है और खुद को अध्यक्ष बताया है।