शिमला। कोरोना वायरस से संबंधित सोशल मीडिया में गलत पोस्ट, समाचार पत्र और टीवी चैनल्स में गलत खबर के प्रकाशित और प्रसारण को रोकने से हिमाचल सरकार लगातार प्रयास कर रही है ताकि समाज में भय का माहौल न पैदा हो।

राज्य में आपदा प्रबंधन अधिनियम की धाराएं लागू, उल्लंघन करने वाले के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई

सूचना एवं जनसंपर्क विभाग की अध्यक्षता में गठित फेक न्यूज मॉनिटरिंग यूनिट द्वारा किए जा रहे कामों की समीक्षा करते हुए सचिव ने बताया कि मीडिया द्वारा कोविड-19 की रोकथाम से संबंधित महत्वपूर्ण सूचनाएं लोगों तक पहुंचाई जा रही हैं।

Covid19 : गलत खबर दिखाई तो होगी कार्रवाई, हिमाचल सरकार ने गठित की Fake News Monitoring Unit

उन्होंने मीडिया से आग्रह किया कि वह अपनी स्वतंत्रता को बरकरार रखते हुए संकट की इस घड़ी में कोविड-19 से सम्बन्धित कोई भी सूचना जारी करने से पहले उसकी पुष्टि करना सुनिश्चित करें ताकि आम जनमानस में किसी तरह का भय पैदा न हो। उन्होंने बताया कि सोशल मीडिया में चलने वाले अप्रमाणिक समाचारों को तुरन्त हटाने की कार्रवाई की जाए।

इससे पहले सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के निदेशक एवं फेक न्यूज मॉनिटरिंग यूनिट के अध्यक्ष हरबंस सिंह ब्रसकोन ने यूनिट के सदस्यों के साथ बैठक की और उन्हें कोविड-19 से सम्बन्धित प्रकाशित अथवा प्रसारित होने वाले अप्रमाणिक समाचारों को प्रकाशित नहीं करने बारे केन्द्र सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों की अनुपालना करने की आवश्यकता पर बल दिया।

बैठक में मॉनिटरिंग यूनिट के सदस्य पुलिस अधीक्षक (साइबर क्राइम) संदीप धवल, स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ विनोद शर्मा, आई.टी.विभाग के संयुक्त निदेशक अनिल सेमवाल, सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के संयुक्त निदेशक प्रदीप कंवर, महेश पठानिया, उप-निदेशक धर्मेन्द्र सिंह व यू.सी. कौण्डल और आई.टी प्रबन्धक किशोर शर्मा भी उपस्थित थे।