शिमला। कोरोना की वजह से बच्चों की पढ़ाई में कोई बाधा नहीं पड़ेगी। इसके लिए सरकार ने विशेष इंतजाम किया है। शिक्षा विभाग पहली बार दूरदर्शन के माध्यम से बच्चों का पढ़ाएगा।

दूरदर्शन के रीजनल चैनल पर इसका प्रसारण 17 अप्रैल से सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक होगा। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया है। बैठक में मंजूरी मिलने के बाद शिक्षा विभाग ने बुधवार को दूरदर्शन केंद्र शिमला में ई-पाठ्यक्रम का ट्रायल किया।

सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले सैकड़ों अभिभावक ऐसे थे, जिनके पास स्मार्ट फोन की सुविधा नहीं थी। विभाग ने इसे देखते हुए दूरदर्शन के माध्यम से प्रसारण करवाने का निर्णय लिया है। अब कोई भी बच्चा पढ़ाई से महरूम नहीं रहेगा। विभाग का कहना है कि दूरदर्शन का क्षेत्रीय प्रसारण पूरे हिमाचल में होता है। फ्री टू एयर यानी जिनके केबल नेटवर्क नहीं है और डिश टीवी ही हे वे भी इसका प्रसारण देख सकेंगे।

शिक्षा विभाग के कक्षा 1-8 तक के बच्चों के लिए ‘समय दस से बारह वाला, हर घर बने पाठशाला’ और 9वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए ‘घर घर पाठशाला’ अधिकारिक रूप शुरू होगा। घर स्कूल बनेगा और अभिभावक शिक्षकों की भूमिका निभाएंगे। शिक्षक छात्र और अभिभावक दोनों का मार्गदर्शन करेंगे। रोज होमवर्क मिलेगा और वाटसएप के माध्यम से चैक भी होगा।