पटना। बिहार के अररिया में होमगार्ड के वायरल वीडियो मामले में बिहार सरकार ने जिला कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार पर कार्रवाई करने के बजाए प्रमोशन दे दिया। कुछ दिनों पहले अररिया में एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें जिला कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार को पुलिस विभाग में चौकीदार गणेश तत्मा को सजा के तौर पर उठक-बैठक करवाते देखा गया था।

आजतक में छपी खबर के अनुसार, इस बाबत सरकार की तरफ से 25 अप्रैल को एक अधिसूचना जारी की गई, जिसमें इस बात की जानकारी दी गई कि अररिया के पदाधिकारी मनोज कुमार को पदस्थापित करते हुए उन्हें मुख्यालय बुला लिया गया है और उन्हें उपनिदेशक के पद पर नियुक्त किया गया है।

बता दें, वीडियो वायरल होने के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अररिया के जिलाधिकारी से रिपोर्ट मांगी थी. इसके साथ ही बिहार के डीजीपी ने घटना पर नाराजगी जताई और होमगार्ड जवान से बात कर उसके प्रति संवेदना जताई. इस मामले को लेकर बिहार डीजीपी ने कहा था कि अररिया से जो वीडियो सामने आया है, इसके बाद हमने स्थानीय एसपी से बात की है।

इस मामले की जांच की जा रही है, वह सिपाही नहीं है लेकिन चौकीदार है. लेकिन वो भी प्रशासन का अंग है।डीजीपी ने कहा कि जो हुआ है, वह काफी निंदनीय है।सरकार को इस बारे में सूचना दी गई है. इतना ही नहीं, बिहार डीजीपी ने इसको लेकर ग्रामीण पुलिस से खुद माफी मांगी, उन्होंने होमगार्ड के जवान से फोन पर बात की।

AAJTAK- जिस अधिकारी ने होमगार्ड को कराई उठक-बैठक, बिहार सरकार ने उसे दिया प्रमोशन