शिमला। सीएम जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में कैबिनेट बैठक हुई। कैबिनेट ने कोविड-19 महामारी के कारण फंड की कमी को देखते हुए राज्य में बस किराया बढ़ाने का फैसला लिया है। वर्तमान में 25 प्रतिशत की बढ़ोतरी की जाएगी। पहले तीन किमी के लिए किराया पांच के बजाय अब सात रुपये वसूल किया जाएगा।

कैबिनेट के फैसले

सूचना और प्रौद्योगिकी विभाग कैबिनेट मीटिंग को पेपर वर्क से मुक्त करेगा।

शिक्षा विभाग में कार्यरत ईजीएस को ग्रामीण विद्या उपासक में बदला जाएगा।

एमपी और एमएलए की रोडवेज की बसों में फ्री ट्रेवल सुविधा खत्म।

38 पुरानी एंबुलेंस को रिप्लेस किया जायेगा।

शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि हमने बाहरी राज्यों से कम किराया बढ़ोतरी की है। डीजल के दाम बढ़ने से किराया बढ़ाया जाना जरूरी था।

अभियोजन विभाग में अनुबंध आधार पर जेओए आईटी के तीन पद भरे जाएंगे।

प्रदेश में शिक्षण संस्थानों के पुस्तकालयों के सुचारू संचालन के लिए शिक्षा विभाग में सहायक लाइब्रेरिरयन के 771 रिक्त पदों को कनिष्ठ कार्यालय सहायक (पुस्तकालय) में परिवर्तित किया जायेगा।