शिमला। हिमाचल सरकार द्वारा प्रदेशवासियों को निःशुल्क चिकित्सा सुविधा ड़ने के लिये शूरू की गई ‘‘हिमकेयर योजना  जनता के लिए वरदान साबित हो रही है। इस योजना के तहत प्रदेश में लाखों लोगों का पंजीकरण किया जा चुका हैं तथा उन्हें निःशुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है।

हिमकेयर योजना के तहत फैमली फलोटर आधार पर एक वर्ष में प्रति परिवार 5 लाख रुपए की निःशुल्क चिकित्सा सुविधा प्रदान की जा रही है। इस योजना के माध्यम से अभी तक 85,36,44,503 रुपए खर्च कर 96 हजार 382 रोगियों का निःशुल्क उपचार किया जा चुका है।

राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई इस महत्वाकांक्षी योजना का मुख्य लक्ष्य स्वस्थ भारत का निर्माण करना है और यह तभी हासिल किया जा सकता है जब देश के नागरिक स्वस्थ होंगे। प्रदेश के सभी पात्र लोगों को हिमकेयर के तहत लाभान्वित करने के लिए इस योजना की कार्यप्रणाली डिजिटाईज की गई है।

रोगियों को विभिन्न फार्म भरने, शुल्क अदा करने तथा अन्य कार्यों के लिए अब लंबी कतार में नहीं लगना पड़ता है। इसके लिए सरकार द्वारा ई-कार्ड, ई-फार्म, ऑनलाइन ट्रीटमेंट ऐंट्रीज और कैशलेस ट्रांजैक्शन मनेजमेंट सिस्टम की व्यवस्था की गई है।

‘‘हिमकेयर योजना’’ का लाभ प्रदान करने के लिए लगभग 200 स्वास्थ्य संस्थानों को पंजीकृत किया गया है। इसमें 56 निजी अस्पताल और पीजीआई चंडीगढ़ को सम्मिलित किया गया है। इस योजना के तहत केंसर, पक्षाघात, मस्कूलर डिस्ट्राॅफी, हदृय से सम्बन्धित बिमारियां, एलजाईमर तथा अन्य गम्भीर बिमारियों का ईलाज भी शामिल किया गया है।