इंदौरा। हिमाचल पुलिस के महानिदेशक संजय कुंडू रविवार को पंजाब से सटे क्षेत्र नूरपुर, इंदौरा, डमटाल व ढांगूपीर

पहुंचे और थानों का निरीक्षण किया। डीजीपी ने डमटाल के साथ लगते बाॅर्डर क्षेत्र के बारे में जानकारी ली। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा भारत-पाकिस्तान सीमा तनाव के चलते क्षेत्र की पुलिस को अलर्ट पर रखा गया है। उन्होंने बताया क्षेत्र में कई लोग जो बाहर से अवैध रूप में यहां रहकर नशे का कारोबार कर रहे हैं, उनकी संपत्ति की फ्रीजिंग, वित्तीय स्थिति की जांच पर कार्य चल रहा है। जिला में एक ऐसा केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

उन्होंने कहा कि पंचायती राज सहित विभिन्न विभागों व सरकारी एजेंसियों से सामंजस्य स्थापित कर नशे के विरुद्ध बड़ा अभियान चलाया जाएगा और अगले 6-7 माह में ही इसके परिणाम जनता को देखने में मिलेंगे। इसके अतिरिक्त पुलिस जवानों के लिए आवास हेतु भवन निर्माण के लिए 350 करोड़ रुपये का प्रस्ताव वित्त आयोग से राशि दिए जाने के लिए केंद्र सरकार को भेज दिया गया है।

डीजीपी ने बताया नशे के काले धंधे पर चोट करने के लिए थोड़ी मात्रा में भी नशा तस्कर के पकड़े जाने पर जमानत न मिले, इसके लिए प्रदेश सरकार के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति महोदय को प्रस्ताव भेजा गया है। विधानसभा क्षेत्र इंदौरा की विधायक रीता धीमान ने  डीजीपी को पुष्प गुच्छ भेंट कर उनका स्वागत किया। उनके साथ डीआइजी संतोष पटियाल, कांगड़ा के एसपी विमुक्‍त रंजन, नूरपूर के डीएसपी साहिल अरोड़ा, इंदौरा थाना के प्रभारी सुरिंद्र धीमान, डमटाल थाना प्रभारी हरीश गुलेरिया मौजूद रहे।