शिमला। जल शक्ति, बागवानी एवं सैनिक कल्याण मंत्री महेन्द्र सिंह तथा विधायक कर्नल इन्द्र सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी तथा हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस पार्टी के नेता कारगिल विजय दिवस के अवसर पर शहीदों को याद करना तक भूल गए।

महेन्द्र सिंह तथा कर्नल इन्द्र सिंह ने कहा कि यह बडे़ दुर्भाग्य की बात है कि देश के लिए अपने सर्वोच्च बलिदान देने वाले भारत माता के इन महान् सपूतों को कांग्रेस पार्टी के किसी भी नेता ने न तो श्रद्धाजंलि दी और न ही किसी ने उन्हें सोशल मीडिया के माध्यम से याद किया।

उन्होंने कहा कि यह बड़े खेद की बात है कि कांग्रेस नेता प्रतिपक्ष जो राजनीति करने का छोटे से छोटा अवसर भी नहीं छोड़ते, भारत मां के इन महान सपूतों को श्रद्धाजंलि देने की बजाय अपने कांग्र्रेसी साथियों के साथ कोरोना के इस दौर में सामाजिक दूरी के नियमों का उल्लंघन करते हुए आम और जामुन खाते रहे। उन्होंने कहा कि यही नहीं मुकेश अग्निहोत्री गत दिन अपने हरोली विधानसभा क्षेत्र मंे दिन भर घूमते रहे परन्तु शहीदों को नमन करने का उन्हंे समय नहीं मिला।

जल शक्ति, बागवानी एवं सैनिक कल्याण मंत्री महेन्द्र सिंह तथा विधायक कर्नल इन्द्र सिंह ने कहा कि कांग्रेस के विधायक विक्रमादित्य सिंह जो हर बात पर ज्ञान बांटते फिरते हैं, उन्होंने भी कारगिल विजय दिवस पर शहीदों को याद करना उचित नहीं समझा। उन्होंने कहा कि इससे स्पष्ट होता है कि कांग्रेस के नेता केवल दिखावे व राजनीतिक रोटियां सेंकने के लिए देशभक्ति का ढांेग करते हैं जबकि वास्तविकता है कि उनके दिल में शहीदों के लिए कोई सम्मान नहीं है।

दोनो नेताओं ने कहा कि कंाग्रेस के नेता जहां राजनीति करने का कोई मौका नहीं छोड़ते और अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने के लिए ज्ञान बांटते फिरते हैं वहीं इस पावन अवसर को भूल गए जो उनके दोगले चरित्र को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस द्वारा कारगिल विजय दिवस को भूलना न केवल शहीदों का अपमान है बल्कि पूरी सेना का भी निरादर है। उन्होंने कहा कि कारगिल विजय दिवस पर शहीदों को भूलकर आम और जामुन खाने वाली कांग्रेस को हिमाचल प्रदेश की जनता माफ नहीं करेगी।