शिमला। हिमाचल चुनाव आयोग पंचायतों के आगामी चुनाव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) का इस्तेमाल नहीं करेगा। पंचायत चुनाव में पिछ्ली बार की तरह मतपत्रों का ही इस्तेमाल किया जाएगा। दिसंबर और जनवरी मध्य में पंचायतों के चुनाव कराने प्रस्तावित हैं। हालांकि, अभी तय नहीं हुआ है कि ये चुनाव कब होंगे।

प्रदेशभर में पंचायतों के चुनाव में 20,350 वार्ड पंचों का चुनाव होना है। 3226 पंचायत प्रधान और इतने ही उपप्रधानों को भी चुना जाना है। 1676 पंचायत समिति सदस्यों और 251 जिला परिषद सदस्यों का भी चुनाव होना है। पंचायतों के चुनाव में प्रत्याशियों की संख्या ज्यादा रहती है। ईवीएम में ज्यादा संख्या में प्रत्याशियों के नाम फीड करने की व्यवस्था नहीं रहती। इस कारण से चुनाव आयोग ईवीएम से पंचायत चुनाव नहीं करा पाएगा। 
पंचायत चुनाव में उम्मीदवारों की संख्या होती है अधिक
हिमाचल चुनाव आयोग के अधिकारी संजीव महाजन कहते हैं कि पंचायती राज संस्थाओं के आगामी चुनाव में आयोग ईवीएम के माध्यम से चुनाव नहीं कराएगा। पंचायत चुनाव में उम्मीदवारों की संख्या अधिक होने के कारण इन्हें ईवीएम में फीड नहीं किया जा सकता। इस कारण आयोग चुनाव में मतपत्रों का प्रयोग ही करेगा।