लखीमपुर खीरी। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में नाबालिग दलित लड़की के साथ हुई हैवानियत ने सभी को झकझोर कर रख दिया है। शौच के लिए घर से बाहर गई इस 13 साल की लड़की के साथ न सिर्फ गैंगरेप किया गया, बल्कि उसकी आंखें फोड़ दीं और जीभ भी काट दी।

पुलिस के मुताबिक बच्ची 14 अगस्त की दोपहर करीब 1 बजे अपने घर से शौच के लिए गन्ने के खेतों की तरफ गई थी। जब लड़की काफी देर बाद भी वापस नहीं लौटी तो परिवार वालों ने तलाश शुरू कर दी और इसी के साथ ही बच्ची की गुमशुदगी की सूचना स्थानीय पुलिस को दे।

बच्ची के पिता ने बताया कि बेटी का शव गन्ने के खेत में पड़ा हुआ था। दरिंदों ने उसकी आंखें फोड़ दी थीं। उसके गले में पट्टा बंधा हुआ था। हैवानों ने बच्ची की जीभ भी काट डाली थी।

लड़की के चाचा ने कहा कि बच्ची के साथ रेप किया गया है। उन्होंने जगदीश, संतोष और संजय नाम के तीन युवकों पर आरोप लगाया है। पीड़ित बच्ची के चाचा ने कहा कि बच्ची खेत गई थी वहां पर इसे जगदीश, संतोष और संजय मिले। बच्ची के साथ रेप किया गया है, फिर इसकी आंखें फोड़ दी गईं और उसे मार डाला गया है।

इस मामले में पहले बच्ची के परिजनों के बयान पर ईसानगर थाने में लखीमपुर पुलिस ने संतोष यादव और संजय गौतम नाम के दो युवकों पर आईसीपी की धारा 301 और 201 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए इन दोनों को गिरफ्तार कर लिया है।

एसपी सतेंद्र कुमार ने कहा कि इस वीभत्स रेप कांड में आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि आरोपियों से पूछताछ जारी है और ये पता किया जा रहा है कि इस घटना में कोई और तो शामिल नहीं था।

लखीमपुर खीरी के एसपी सतेंद्र कुमार ने बताया है कि पुलिस ने तुरंत कार्रवाई की और शव का पोस्टमार्टम करवाया। बच्ची की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट 15 अगस्त को आई। पोस्टमॉर्टम में गैंगरेप की पुष्टि हुई है दोनों आरोपियों को पहले ही धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। अब पोस्टमार्टम में रेप की पुष्टि हो गई है तो मुकदमे में आईपीसी की धारा 376-D भी जोड़ी जाएगी।

इस घटना पर बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने प्रदेश की मौजूदा सरकार पर हमला किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि यूपी के लखीमपुर खीरी में दलित नाबालिग के साथ बलात्कार के बाद फिर उसकी नृशंस हत्या अति-दुःखद और शर्मनाक। ऐसी घटनाओं से सपा व वर्तमान भाजपा सरकार में फिर क्या अन्तर रहा? सरकार आजमगढ़ के साथ खीरी के दोषियों के विरूद्ध भी सख्त कार्रवाई करे, बीएसपी की यह मांग है।