कुल्लू। जिले की गड़सा घाटी की ऊंची पहाड़ी में बादल फटने से घाटी के प्रसिद्ध तीर्थ स्थल शोठ निहारगड़ू देवता का स्थान क्षतिग्रस्त हो गया।

भारी गाद के चलते तीर्थ स्थान पर देवता के तमाम चिन्ह बह गए। 20 भादों पर हर साल यहाँ हजारों लोग पवित्र स्नान करते थे। भारी बारिश और बादल फटने से वन संपदा व आसपास की जमीनों को भारी नुकसान पहुँचा है।

इसके अलावा धारा गांव में सड़क क्षतिग्रस्त हो गई और एक कार भी नाले में बह गई।