शिमला। आज राष्ट्रीय खेल दिवस है। हिमाचल के खिलाड़ी भी ओलंपिक और अंतरराष्ट्रीय खेलों में प्रदेश और देश का नाम रोशन कर सकें, इसके लिए हिमाचल सरकार अपनी खेल नीति बनाने जा रही है। इस बात की जानकारी खेल मंत्री राकेश पठानिया ने न्यूज18 के साथ बातचीत में दी थी।

खेल मंत्री राकेश पठानिया ने बताया कि मानसून सत्र के बाद सितंबर के अंत तक प्रदेश की खेल नीति तैयार हो जाएगी। पठानियों ने बताया कि पांच राज्यों ( पंजाब, हरियाणा, गुजरात, महाराष्ट्र और तमिलनाडु) की स्पोर्ट्स पॉलिसी का अध्ययन कर रहे हैं। खेल नीति बनाने के लिए स्पोर्ट्स प्रोफेशनल्स, अच्छे खिलाड़ियों, कोच और खेल संघों के सुझाव भी लिए जा रहे हैं।

हालांकि राकेश पठानिया ने माना कि हिमाचल में खेलों के लिए बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर की कमी है। अच्छी अकादमी, इंडोर स्पोर्टस सहित खेलों के मैदान भी नहीं है, इसलिए प्रदेश सरकार केंद्र से भी मदद मांगेगी। हाल ही में खेल मंत्री ने केंद्रीय खेल मंत्री से भी दिल्ली में मुलाकात की है।

साभार: – न्यूज इनपुट न्यूज18 हिमाचल