मुंबई/मंडी। अभिनेत्री कंगना रनौत एक बड़े विवाद के बाद अब सोमवार को मुंबई से हिमाचल के लिए रवाना हो गईं. कंगना ने मुंबई से निकलने से पहले एक ट्वीट किया और बताया कि वो बेहद भारी मन से मुंबई से जा रही हैं क्योंकि यहां उन पर हमले हो रहे हैं, उन्हें गालियां दी जा रही हैं. इतना ही नहीं डरा कर रखने की कोशिश की जा रही है. ऑफिस तोड़ दिया गया.

कंगना ने ट्वीट में लिखा, उनके ऑफिस को तोड़ दिया गया. मेरी सुरक्षा को देखकर लग रहा है कि मुंबई को लेकर दिया गया मेरा POK वाला बयान सच है.

इससे पहले रविवार को कंगना ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की और इंसाफ मांगा. कंगना ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मैं एक नागरिक के तौर पर राज्यपाल से मिलने आई थी. राजनीति से मेरा कोई लेना-देना नहीं है. मैंने अपने साथ हुई नाइंसाफी के बारे में उनसे बताया. राज्यपाल के मुलाकात के वक्त उनकी बहन रंगोली चंदेल भी उनके साथ मौजूद थी.

क्या विवाद है ?

ये विवाद उस वक्त शुरू हुआ जब कंगना ने एक बयान में कहा कि ‘मूवी माफिया’ से ज्यादा मुंबई पुलिस से डर लगता है और महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर POK से कर दी.

कंगना रनौत के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि अगर उन्हें मुंबई पुलिस से डर लगता है तो उन्हें मुंबई नहीं आना चाहिए.