शिमला। हिमाचल प्रदेश विधानसभा के मॉनसून सत्र के नौवें दिन भी सदन की कार्यवाही की शुरुआत हंगामा के साथ हुई. गुरुवार को किन्नौर से कांग्रेस विधायक जगत सिंह नेगी ने अनुसूचित जातियों और जनजातियों को नौकरियों में आरक्षण न मिलने, शोषण होने, एससी, एसटी कंपोनेंट का पैसा खर्च न होने के विषय पर नियम 67 में चर्चा मांगी थी, लेकिन स्पीकर ने इससे इंकार कर दिया.

इसके बाद गुस्साए कांग्रेस सदस्यों ने सदन में जमकर हंगामा किया और नारेबाजी करते हुए सदन से वॉकआउट कर दिया. हालांकि, बाद में कांग्रेस विधायक वापस सदन में लौट आए. कांग्रेस के वॉकआउट पर सीएम जयराम ठाकुर ने कड़ी निंदा की.
हिमाचल के पूर्व सीएम और सदन के सबसे वरिष्ठ सदस्य वीरभद्र सिंह भी गुरुवार को सदन में मौजूद रहे.