शिमला। सोशल मीडिया में एक भ्रम फैलाया जा रहा है कि बंजार से भाजपा विधायक सुरेन्द्र शौरी ने अपनी कोरोना रिपोर्ट पाॅजिटिव आने की बात छुपाई, लेकिन सबसे पहले इस बात को जानना जरूरी है कि विधायक का टेस्ट क्यों हुआ।

दरअसल 3 अक्तूबर को अटल टनल का उद्घाटन समारोह था। समारोह में शामिल होने से पहले सभी का कोरोना टेस्ट जरूरी था। इसलिए एस पी जी के निर्देश पर विधायक का भी टेस्ट हुआ। कोरोना पाॅजिटिव आने पर विधायक 2 अक्टूबर को ही होम क्वारंनटीन हो गये हैं।

शौरी ने सोशल मीडिया के माध्यम से कहा, कुछ लोग, जो यह भ्रांति फैला रहे हैं कि मैंने अपनी कोरोना पॉजिटिव आने की जानकारी छुपाई है और पॉजिटिव आने के बावजूद मनाली में समारोह में शामिल हुआ हूँ, तो मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूँ कि मैंने अपना कोरोना टेस्ट SPG के दिशा-निर्देशानुसार करवाया है, जिसके मुताबिक कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट का 48 घंटे के भीतर का होना अपेक्षित था। मैंने यह टेस्ट SPG के कहे अनुसार करवाया है न कि कोरोना संदिग्ध होने पर और जैसे ही मुझे मेरी कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट प्राप्त हुई है, मैं उसी समय से अपने स्टाफ सहित आइसोलेट हो गया हूँ व मनाली समारोह में शामिल होने से पूर्व ही पिछ्ले दिवस अर्थात 2 अक्तूबर दोपहर बाद से ही आइसोलेट हुआ हूँ। कुछ लोग जो इसकी आड़ में मेरी व सरकार की छवि धूमिल करने के लिए व अपने राजनीतिक स्वार्थ सिद्ध करने के लिए व्यक्तिगत रूप से ये भ्रांतियाँ फैला रहे हैं, उन्हें स्वस्थ होने के बाद, यदि आवश्यक हुआ तो कानूनी रूप से भी, इसका उपयुक्त जवाब दिया जाएगा।