शिमला। ऐसी चर्चाएं हैं कि काँगड़ा में गुटबाजी और ज्वालामुखी प्रकरण के बाद हाईकमान नाराज है। हाईकमान के बुलावे पर शनिवार शाम को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर दिल्ली जाएंगे और केंद्रीय नेतृत्व के नेताओं से मिलेंगे.

दरअसल, बीते सप्ताह अनुशासनहीनता के चलते कांगड़ा के ज्वालामुखी मंडल को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने भंग कर दिया था. भाजपा विधायक रमेश धवाला और सगंठन मंत्री में खटपट के चलते यह कार्रवाई की गई थी. उसके बाद धवाला सीएम से मिले थे. हालांकि, यह विवाद पुराना है और धवाला राणा पर अक्सर आरोप लगाते रहें हैं कि उनके क्षेत्र में वह कई मुद्दों और फैसलों पर अड़ंगा लगाते रहे हैं. इसके अलावा कांगड़ा की ही एक मंत्री भी नाराज हैं और उन पर जमीन खरीद के आरोप भी लगे थे. ऐसे में कुछ मंत्रियों के विभाग बदलने की चर्चा है.

सीएम का दिल्ली दौरा तय होते ही प्रदेशाध्यक्ष सुरेश कश्यप और तीन महासचिव त्रिलोक जम्वाल, त्रिलोक कपूर और राकेश जम्वाल गुरुवार शाम जयराम ठाकुर से मिलने ओकओवर पहुंचे. इस दौरान उन्होंने कुछ मुद्दों पर चर्चा की. शनिवार को बैठक के बाद रविवार को सीएम जयराम शिमला लौट आएंगे.

हिमाचल में एक माह पहले ही मंत्रीमंडल में फेरबदल हुआ था. यहां पर सुखराम चौधरी, राजेंद्र गर्ग और राकेश पठानिया को कैबिनेट में जगह दी गई थी. इसके अलावा, मंत्रियों के विभाग भी बदले गए थे.