धर्मशाला। कोरोना काल के बीच 7 दिसंबर से तपोवन में हिमाचल विधानसभा का शीतकालीन सत्र शुरू हो रहा है। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय की मंजूरी मिलने के बाद 5 दिवसीय शीतकालीन सत्र की अधिसूचना जारी की गई। शीतकालीन सत्र के हंगामेदार रहने के आसार हैं। 27 दिसंबर को जयराम सरकार के तीन साल पूरे हो रहे हैं।

कोरोना की स्थिति, अवैध खनन, सीमेंट के बढ़े दाम और सड़कों की हालत जैसे तमाम जन मुद्दों को लेकर विपक्ष सरकार पर हमलावर रह सकता है। 5 दिसंबर को जनमंच है और उसी दिन सत्र शुरू  हो रहा है। शीत सत्र 11 दिसंबर तक चलेगा।